अयोध्या मामले में ट्विटर यूजर्स की सीधी बात- 'मन्दिर वहीं बनेगा'

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर सुप्रीम कोर्ट को जो कहना हो कहे मगर सोशल मीडिया पर जो लोगों का रुख है उससे साफ है कि मंदिर वहीं बनेगा.
देश की सबसे बड़ी अदालत में कल यानी सोमवार से अयोध्या में राम मंदिर पर सुनवाई शुरू हो रही है. बीजेपी नेता कह रहे हैं कि अगर सुप्रीम कोर्ट से राम मंदिर का रास्ता नहीं खुला तो कानून लाकर मंदिर बनेगा. संघ प्रमुख पहले ही कह चुके हैं कि मोदी सरकार राम मंदिर पर कानून लाए. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले अयोध्या में राम मंदिर बनकर तैयार हो जाएगा.


अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण को लेकर सर्वोच्च न्यायालय ने अपनी सुनवाई जनवरी तक के लिए टाल दी है. केवल दो लाइन के अपने फैसले में सर्वोच्च न्यायालय ने मामले की सुनवाई जनवरी से शुरू किए जाने का फैसला दिया है. ध्यान रहे कि सुनवाई में विवादित जमीन को तीन भागों में बांटने वाले 2010 के इलाहाबाद उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ कई याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई थी जिनपर सुनवाई होनी थी. ज्ञात हो कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 30 सितंबर, 2010 को 2:1 के बहुमत से अपने फैसले में कहा था कि 2.77 एकड़ जमीन को तीनों पक्षों- सुन्नी वक्फ बोर्ड, निर्मोही अखाड़ा और राम लला में बराबर-बराबर बांट दिया जाए. सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि ये मामला अर्जेंट सुनवाई के तहत नहीं सुना जा सकता है.

राम मंदिर, सुप्रीम कोर्ट, ट्विटर, भाजपा
सुप्रीम कोर्ट ने जनवरी तक राम मंदिर मामले की सुनवाई को टाल दिया है

गौरतलब है कि बीते 27 सितम्बर को हुई सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने 1994 के अपने फैसले पर पुनर्विचार करने से इंकार करते हुए मस्जिद को इस्लाम का आंतरिक हिस्सा मानने से इंकार कर दिया था. मामले की सुनवाई तत्कालीन चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस अब्दुल नजीर कर रहे थे. सुप्रीम कोर्ट ने अपने 1 के मुकाबले 2 जजों के बहुमत के फैसले में कहा था कि मामले की सुनवाई सबूतों के आधार पर होगी.

एक ऐसे वक़्त में जब पूरा देश राम मंदिर के लिए सुप्रीम कोर्ट की तरफ देख रहा हो. इस ताजे फैसले पर आम लोगों की प्रतिक्रिया आना स्वाभाविक था. भले ही सुनवाई कोर्ट में चल रही हो और उसे जनवरी तक के लिए टाल दिया गया हो. सोशल मीडिया पर ऐसे लोगों की भरमार है जिन्हें कुछ सुनना नहीं है. ऐसे लोगों के ट्वीट्स और फेसबुक पोस्ट्स से साफ बता रहे हैं कि 'मन्दिर वहीं बनेगा'.

तो आइये पहले उन ट्वीट्स पर नजर डाल लें जिन्हें हर कीमत पर अयोध्या में मंदिर देखना है.

Post a Comment

0 Comments